IPL के फाइनल मुकाबले में विदेशी खिलाड़ी चेन्नई के लिए लक्की साबित होते है- पूरी रिपोर्ट पढ़े-

853
IPL के फाइनल मुकाबले में विदेशी खिलाड़ी चेन्नई के लिए लक्की साबित होते है- पूरी रिपोर्ट पढ़े- Oversease player good played for chennai

चेन्नई सुपर किंग्स की टीम आईपीएल इतिहास की सबसे सफल टीमों में से एक है। हाल ही में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने चौथी बार आईपीएल का फाइनल मुकाबला जीता। आईपीएल मैच चेन्नई सुपर किंग्स की टीम अब तक 9 बार फाइनल मुकाबले में जगह बनाई है। जिसमें से 5 बार टीम को हार का सामना करना पड़ा है, जबकि 4 बार इस टीम को जीत मिली है। फाइनल मुकाबले में चेन्नई की टीम ने कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम को 27 रनों से हराया। IPL 2021 के फाइनल मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम के सलामी बल्लेबाज फाफ डु प्लेसिस ने चेन्नई की तरफ से सबसे ज्यादा 86 रनों की पारी खेली थी। उनकी इस शानदार पारी की बदौलत चेन्नई की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए 192 रनों का स्कोर खड़ा की थी।

रोमांचक मुकाबले में KKR की टीम को 27 रन से हरा चेन्नई बनी चौथी बार IPL विजेता Chennai won ipl 2021 trophy

ज्यादातर मौकों पर यह देखा गया है, कि आईपीएल के फाइनल मुकाबले में चेन्नई की टीम की तरफ से खेलने वाले विदेशी खिलाड़ियों का योगदान काफी शानदार रहता है। IPL 2021 के भी फाइनल मुकाबले में चेन्नई की टीम के दो ओवरसीज प्लेयर्स ने काफी शानदार प्रदर्शन किया और, उनका नाम फाफ डु प्लेसिस और मोईन अली है। साल 2018 के आईपीएल के फाइनल मुकाबले में भी चेन्नई सुपर किंग्स की टीम के सलामी बल्लेबाज शेन वॉटसन ने मात्र 57 गेंदों पर 250 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए 117 रनों की शतकीय पारी खेले थे। अपनी इस पारी के दौरान सेन वाटसन 11 चौके और 8 गगनचुंबी छक्के लगाए थे। पहले बल्लेबाजी करते हुए Chennai super kings की टीम आईपीएल 2018 के फाइनल मुकाबले में 179 रनों का स्कोर खड़ा की थी। सनराइजर्स हैदराबाद की टीम इस मुकाबले में हार गई और चेन्नई की टीम अपना तीसरा आईपीएल का खिताब जीती। Shane Watson इस फाइनल मुकाबले में अपने अकेले दम पर चेन्नई की टीम को जीत दिलाए थे।

Crictrack.in- #No. 1 Hindi Cricket News Channel is Crictrack. Join us for Live Hindi Cricket News, #Crictrack

आईपीएल 2018 के फाइनल मुकाबले के जैसा ही प्रदर्शन आई पी एल 2021 के फाइनल मुकाबले में भी विदेशी प्लेयर्स ने दिखाया। 2021 के फाइनल मुकाबले में भी पहले भारतीय खिलाड़ी ऋतुराज गायकवाड 32 रन और दूसरे सलामी बल्लेबाज फाफ डू प्लेसिस 86 रनों की पारी खेली थी। साथ ही दूसरे विदेशी खिलाड़ी मोईन अली भी मात्र 20 गेंदों में 37 रनों की धमाकेदार पारी खेलते हुए, अपनी टीम को 192 रनों के स्कोर तक पहुंचाए थे। Faf DU Plessis को आईपीएल 2021 के फाइनल मुकाबले में धमाकेदार पारी खेलने के लिए “मैन ऑफ द मैच” के अवार्ड से नवाजा गया। IPL 2021 का पर्पल कप का अवार्ड चेन्नई सुपर किंग्स की टीम के सलामी बल्लेबाज ऋतुराज गायकवाड को मिला। ऋतुराज गायकवाड ने आइपीएल 2021 में सबसे ज्यादा रन बनाए थे। आईपीएल 2021 मैच चेन्नई की टीम की सफलता का राज उनके सलामी बल्लेबाजों का धमाकेदार प्रदर्शन करना ही रहा।

मैच खत्म होने के बाद विराट कोहली पूर्व कप्तान धोनी से गले मिलकर किए मस्ती Dhoni kohli meet after the match

इससे पहले भी आईपीएल के फाइनल मुकाबलों में विदेशी खिलाड़ियों का चेन्नई की टीम की तरफ से खेलते हुए खूब बोल’बाला रहा है। आईपीएल 2019 के भी फाइनल मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम के सलामी बल्लेबाज शेन वॉटसन ने मात्र 59 गेंदों पर 80 रनों की पारी खेलकर अपनी टीम को जीत के करीब पहुंचाए थे। लेकिन इस फाइनल मुकाबले को चेन्नई की टीम मात्र 1 रनों से हार गई और चेन्नई की टीम का खिताब जीतने का सपना अ’धूरा रह गया। 2019 के फाइनल मुकाबले में चेन्नई की टीम को अंतिम 3 गेंद और मुकाबला जीतने के लिए मात्र 4 रनों की जरूरत थी। लेकिन शेन वाटसन अंतिम ओवर में रन आउट हो गए। जिसके चलते चेन्नई की टीम मात्र की 1 रनों से फाइनल मुकाबला हार गई। 2019 के फाइनल मुकाबले में एक तरफ जहां चेन्नई की टीम के कोई भी बल्लेबाज क्रीज पर नहीं टिक रहे थे। वहीं दूसरी तरफ सेन वाटसन एक तरफ से मो’र्चा संभालकर चेन्नई की टीम को मैच में बनाए रखें।

IPL 2021 का फाइनल मुकाबले में बने कई बड़े रिकॉर्ड्स-पूरी खबर पढ़ें IPL final 2021 big records

इससे पहले भी चेन्नई की तरफ से लगभग जितने भी विदेशी खिलाड़ी खेले हैं। सभी खिलाड़ियों का प्रदर्शन चेन्नई की टीम के लिए काफी शानदार रहा है। उन खिलाड़ियों में से सबसे बढ़िया प्रदर्शन चेन्नई की टीम की तरफ से खेलने वाले ऑलराउंडर खिलाड़ी ड्वेन ब्रावो का रहा है। चेन्नई की टीम की तरफ से सबसे शानदार प्रदर्शन करने वाले कुछ और खिलाड़ियों में पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी मैथ्यू हेडन, दक्षिण अफ्रीका के ऑलराउंडर खिलाड़ी एल्बी मॉर्केल, ऑस्ट्रेलियाई टीम के पूर्व तेज गेंदबाज डग बॉलिंगर जैसे महान खिलाड़ियों का नाम सबसे पहले लिया जाता है। चेन्नई सुपर किंग्स की टीम की सफलता के पीछे सबसे बड़ा राज उनकी टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और उनकी टीम मैनेजमेंट का रहा है। महेंद्र सिंह धोनी चेन्नई की टीम की कप्तानी करते हुए कई नौजवान खिलाड़ियों को क्रिकेट का गुण सिखाते हुए, उन्हें इंटरनेशनल क्रिकेट टीम में खेलने का भी अवसर प्रदान करा चुके हैं।

No.1 Hindi Cricket News website- Crictrack.in- Daily Hindi Cricket, Hindi cricket news Crictrack, cricket news Hindi.